परमिश वर्मा: करते थे ऑस्ट्रेलिया में होटल में काम बने पंजाब के फेमस सेलिब्रिटी

पंजाबी म्यूजिक इंडस्ट्री में एक प्रसिद्ध चेहरा है जिन्होंने , 'गाल नी कडनी' और 'शदा' , खाब जैसी हिट के साथ, परमिश वर्मा शुरुआती सालों में काफी संघर्ष भरे थे , बहुत संघर्ष के बाद अब वह पंजाब के फेमस सिंगर में से एक है|



सिडनी, ऑस्ट्रेलिया में होटल मैनेजमेंट कोर्स को  करने के बाद परमिश वर्मा 2008 में भारत लौट आये और अपना जुनून - गायन और वीडियो बनाने में  दिया।



परमिश वर्मा ने होटल मैनेजमेंट का कोर्स करने के बाद ऑस्ट्रेलिया में काफी संघष किया|  इनको अपनी बॉडी को बहुत दयँ देते है तभी इनकी एक अलग ही पर्सनालिटी है | परमिश का जन्म पंजाब के पटियाला में हुआ था, उन्होंने यादवंड्रा पब्लिक स्कूल, पटियाला से अपनी पढ़ाई पूरी की और उनके एक छोटे भाई हैं। वह पंजाबी विश्वविद्यालय के पंजाबी विभाग के सेवानिवृत्त प्रोफेसर डॉ। सतीश वर्मा के बेटे हैं।




वह २०११ में  पंजाब बोल्डा  पंजाबी फिल्म में दिखाई दिया, और शुरू में पंजाब संगीत  में अपने पैरों को खोजने की कोशिश किया इन्होने  नए सिंगेरो  के लिए वीडियो निर्देशित किए। गायक-से-अभिनेता निंजा के लिए उनके वीडियो के बाद वे लोकप्रिय हो गए। उन्होंने इन वीडियो में एक गुस्सा खलनायक का हिस्सा चित्रित किया।



उनका बड़ा ब्रेक वीडियो "ज़िमेवारी भख ते दूरी " के साथ आया था, जिसमें एक किशोर लड़के की कहानी दिखाई देती है। वीडियो में, वर्मा ने ऑस्ट्रेलिया में रहने के दौरान मुश्किल समय का सामना किया और पौराणिक पंजाबी गायक गुरदास मान के बेटे गुरिक्क मान द्वारा दी गई सलाह के बारे में भी बातचीत की।



पंजाब के लड़कों ने विदेशों में निपटने और अजीब काम करके अपनी आजीविका अर्जित करने की कोशिश करते हुए संघर्ष का प्रदर्शन किया, वर्मा के करीब एक विषय है, क्योंकि वह अक्सर कहता है कि उनके गाने और वीडियो में ऑस्ट्रेलिया में अपने दिनों के संघर्ष हैं।



कई हिट्स देने के बाद , परमिश वर्मा  ने भी अपना प्रोडक्शन हाउस खोल दिया है - परमिश वर्मा फिल्म्स संगीत संगीतकार जोड़ी देसी क्रू के साथ उनकी गठजोड़ और दोस्ती ने उन्हें एक सफल टीम बना दी जो कि वीडियो, शो, फिल्में, गायन और दिशा निर्देशों को एक साथ करती  है।



परमिश सोशल साइट्स में बहुत एक्टिव रहते है वह स्नैपचैट, फेसबुक  और इंस्टाग्राम  में रेगुलर अपडेट रहते है | और उनको लोग बहुत पसंद भी करते है |

No comments: